‘अदृश्य’ फिल्म का साहित्य रूप में आना, “अब नई गीता लिखें, जो कहे कि कहानी अमर होती है”

posted in: Litreture | 0

विशेष संवाददाता मुंबई, 29 जुलाई 2018। महानगर में आज साहित्य व फिल्मोद्योग में अनूठा प्रयोग पूर्ण हुआ, जिसका नाम है, अदृश्य। पहले एक फिल्म तैयार हुई, फिर उस पर उपन्यास की रचना हुई। इस उपन्यास का विमोचन आज गोरेगांव पूर्व … Continued

‘अदृश्य’ : एक फिल्म का साहित्य में बदल जाना

posted in: Litreture | 0

‘अदृश्य’ फिल्म के पटकथा-संवाद लेखक विवेक अग्रवाल एवं अलका अग्रवाल सिग्तिया ने एक अनूठा प्रयोग साहित्य तथा फिल्म संसार में कर दिखाया है। लेखक जोड़ी ने एक निराले विषय पर संदीप चटर्जी के निर्देशन में बनी फिल्म अदृश्य को उपन्यास … Continued