‘बांबे बार’ किताब पर हरिभूमि अखबार के सभी संस्करणों के रविवारीय खंड में समीक्षा

posted in: Litreture | 0

‘बांबे बार’ किताब पर हरिभूमि अखबार के सभी संस्करणों के रविवारीय खंड में समीक्षा देखना बेहद सुखद है… छत्तीसगढ़ की माटी से एक खास ही लगाव है… क्यों न होगा… बचपन का बड़ा हिस्सा गुजारा है रायपुर, बिलासपुर, जबलपुर वगैरह … Continued

‘अदृश्य’ फिल्म का साहित्य रूप में आना, “अब नई गीता लिखें, जो कहे कि कहानी अमर होती है”

posted in: Litreture | 0

विशेष संवाददाता मुंबई, 29 जुलाई 2018। महानगर में आज साहित्य व फिल्मोद्योग में अनूठा प्रयोग पूर्ण हुआ, जिसका नाम है, अदृश्य। पहले एक फिल्म तैयार हुई, फिर उस पर उपन्यास की रचना हुई। इस उपन्यास का विमोचन आज गोरेगांव पूर्व … Continued

‘अदृश्य’ : एक फिल्म का साहित्य में बदल जाना

posted in: Litreture | 0

‘अदृश्य’ फिल्म के पटकथा-संवाद लेखक विवेक अग्रवाल एवं अलका अग्रवाल सिग्तिया ने एक अनूठा प्रयोग साहित्य तथा फिल्म संसार में कर दिखाया है। लेखक जोड़ी ने एक निराले विषय पर संदीप चटर्जी के निर्देशन में बनी फिल्म अदृश्य को उपन्यास … Continued

मुंबई के डांस बार रहस्यों से भरे हैं – विवेक अग्रवाल, जस्ट स्टोरी टेलर, इंदौर में

posted in: Litreture, News & Investigations | 0

विवेक अग्रवाल की मुंबई के डांस बारों में काम करने वाली बारबालाओं की जिंदगी में झांकने के बाद लिखी पुस्तक “बांबे बार” पर चारों तरफ खासी बहस और बातें हो रही हैं।   इसी कड़ी में इंदौर के आर्ट कैफे … Continued

बीमार मानस वाले मर्दों के अस्पताल हैं मुंबईया डांस बार – विवेक अग्रवाल

posted in: News & Investigations | 0

सवाल: यह किताब तो ऐसी है कि इस पर बात करने भर से आप चरित्रहीन करार दिए जा सकते हैं। आपने तो इसे खुल कर लिखा ही नहीं, सबके सामने बेबाकी से पेश कर दिया है। विवेक: मेरा काम सत्य … Continued

बारबालाओं के अंतस से डांस बार में झांकने की कोशिश है किताब बांबे बार

posted in: News & Investigations | 0

मुंबई का डांस बारों पर हंगामा सभी ने खूब मचाया। सरकार ने दादागिरी दिखा कर मुंबई के डांस बारों पर पाबंदी लगा ली। बार मालिकों ने हजारों करोड़ रुपयों के नुकसान और मुंबई की नाईट लाईफ खराब होने का डर … Continued

“बॉंबे बार” का विमोचन विश्व पुस्तक मेला में संसदीय राजभाषा समिती उपाध्यक्ष सत्यनारायण जटिया ने किया

posted in: News & Investigations | 0

“बॉंबे बार – चिटके तो फटके” का विमोचन 13 जनवरी 2018 को विश्व पुस्तक मेला, दिल्ली में संसदीय राजभाषा समिती के उपाध्यक्ष व राज्यसभा सांसद, उज्जैन श्री सत्यनारायण जटिया ने किया।   इस मौके पर कई वरिष्ठ पत्रकारों व लेखकों … Continued

संहिता मंच नाट्य उत्सव 2017: जीवन की विसंगतियों पर प्रहार करते नाटकों के मंचन और पुस्तक “रंगकलम” का लोकार्पण

posted in: News & Investigations | 1

मुंबईः जीवन की तामाम विसंगतियों पर प्रहार करने और तीखे सवाल उठाने वाले तीन नाटकों का मंचन संहिता मंच नाट्य उत्सव 2017 में हुए। नाट्य समारोह के आरंभ में रंजीत कपूर, त्रिपुरारी शर्मा व कुमुद मिश्रा की चयन समिति द्वारा … Continued

Khel Khallas : 16 Most Dreaded Criminals, 16 Encounters & 16 Stories!

posted in: News & Investigations | 0

Mumbai, 16 most dreaded criminals, 16 encounters and 16 stories of Mumbai Underworld. Famous investigative and crime journalist Vivek Agrawal’s new book “Khel Khallas” has arrived in the market. Vivek talks about the reality of criminal’s lives and why they … Continued

खेल खल्लास… पूरे 30 मिनट तक… 16 मुठभेड़ों का सोलह आने सच…

posted in: News & Investigations | 0

खेल खल्लास… पूरे 30 मिनट तक… 16 मुठभेड़ों का सोलह आने सच…   नेटवर्क इन 24 न्यूज के मुख्य संपादक अवनिंद्र आशुतोष ने विवेक अग्रवाल का लंबा साक्षात्कार उनकी नई किताब खेल खल्लास के बारे में लिया है, जो स्टोरी … Continued

खेल खल्लास – जो गोली से खेलेगा, वो गोली से मरेगा

posted in: News & Investigations | 0

खेल खल्लास – जो गोली से खेलेगा, वो गोली से मरेगा विवेक अग्रवाल की नई किताब… स्टोरी मिरर का नवीनतम प्रकाशन… मुंबई अंडरवर्ल्ड की 16 मुठभेड़ों का सोलह आने सच…  

खेल खल्लास: 16 मुठभेड़ों का सोलह आने सच

posted in: News & Investigations | 0

जो कर गया, वो घर गया, जो डर गया, वो मर गया। मुंबई के गिरोहबाजों और उनके सरगनाओं, सेनापतियों, सिपहसालारों, किलेदारों, फौजदारों, जत्थेदारों, सूबेदारों, सुपारी हत्यारों, प्यादों तक पूरी फौज कैसी खामोशी से अपना काम करके निकल जाती है, यह … Continued

खेल खल्लास: साधु शेट्टी : ‘साधु’ जिसे मिला मुठभेड़ में ‘निर्वाण’

posted in: News & Investigations | 0

मई 2002 में मुंबई पुलिस मुठभेड़ों के कारण फिर विवादों में घिरी। राजन गिरोह के सिपहसालार साधु शेट्टी को अपराध शाखा के मुठभेड़ विशेषज्ञ इं. विजय सालस्कर ने मारा, जबकी वह आठ सालों से अंडरवर्ल्ड से तौबा कर गया था। … Continued

खेल खल्लास: रम्या बटलर : मुहब्बत का मारा माफिया में

posted in: News & Investigations | 0

रमेश सुर्वे क्रिकेटर बनने का सपना लिए मैदान में दिन भर बल्ले से गेंद पीटता पसीना बहा रहा था। कुछ बड़ा कर गुजरने की आकांक्षा में वह कड़ी मेहनत कर रहा था। किसी को पता न था कि यही रमेश … Continued

खेल खल्लास: रज्जाक कश्मीरी : सिपहसालार को चुनौती देने वाला फौजदार

posted in: News & Investigations | 0

कोई सोचे कि वो अजेय है, जिसे चुनौती दे रहा है, कभी न कभी उसे मार गिराएगा, तो खामखयाली भी हो सकती है। रज्जाक कश्मीरी बड़ा चालाक व चुस्त गिरोहाबाज था, इसके बावजूद उसका भी हुआ खेल खल्लास।   अपनी … Continued

खेल खल्लास: मोहम्मद शफी शेख उर्फ पुराना मंदिर : बहन की शादी ने बनाया गिरोहबाज

posted in: News & Investigations | 0

अंडरवर्ल्ड के फिल्मों से पुराने संबंध हैं। फिल्मी ग्लैमर अपराधियों को हमेशा खींचता है। फिल्मी लोग भी रुपहली दुनिया छोड़ काले संसार में शामिल हुए हैं। फिल्मों में काम कर रहे मोहम्मद इकबाल शेख के साथ भी ऐसा ही हुआ। … Continued

खेल खल्लास: योगेश पराडकर उर्फ परड्या क्रिकेट का दीवाना बना हत्यारा

posted in: News & Investigations | 0

योगेश की कहानी पर एक मसाला फिल्म बन सकती है। वह भी ढेरों उतार-चढ़ाव और ऐसी जिंदगी के साथ अंडरवर्ल्ड में आया, जो बिल्कुल अलग है। कुछ अपराधी किरदारों से भले ही कुछ हिस्से मिलते लगें, फिर भी अलग रवानी … Continued

खेल खल्लास: रफीक डिब्बावाला : एसटी का छोटा भाई एचटी

posted in: News & Investigations | 0

मो. रफीक से रफीक डिब्बावाला तक का सफर, 20 वर्ष की उम्र से शुरू होकर 37 साल में खत्म हो गया।   जेबकतरे भाई और बारबाला बहन की तरह विदेशी वस्तुओं के पीछे रफीक भी दीवाना था। तीनों जल्द अमीर … Continued

खेल खल्लास: माया डोलस : बगावत का अंजाम

posted in: News & Investigations | 0

डी-कंपनी के बागी सुपारी हत्यारे व निशानची माया डोलस को चार साथियों समेत लोखंडवाला की एक इमारत में मार गिराया, तो हाहाकार मच गया। इस खूनी मुकाबले में दो अफसर भी घायल हुए थे। माया की भीषण मुठभेड़ और मौत … Continued

खेल खल्लास: मदन चौधरी उर्फ मेंटल : एमआर के वेश में शूटर

posted in: News & Investigations | 0

एक ‘देसी’ गिरोहबाज जो ‘विदेशी’ गिरोह सरगनाओं को चुनौती देता रहा कि हिम्मत है तो भारत आकर मुकाबला करें। उसके वाग्बाणों के निशाने पर राजन व शकील दोनों रहे।   मदन चौधरी किसी से भिड़ने के पहले सोचता न था। … Continued

खेल खल्लास: डीके भाई : आतंक का दूसरा नाम डीके

posted in: News & Investigations | 0

मुंबई अंडरवर्ल्ड में डीके नाम आतंक का पर्याय था। गवली गिरोह का सबसे विश्वस्त सिपहसालार खतरनाक नाम है। डीके भाई के खिलाफ हफ्तावसूली के 125 व हत्या के 4 मामले दर्ज हुए थे।   डीके के नाम कुछ ही मामले … Continued

खेल खल्लास: नितेश कसारे उर्फ चिकना : रूपसी के रूप में मौत का परकाला

posted in: News & Investigations | 0

नितेश कसारे के काम का तरीका अन्य अपराधियों से अलग था। उसकी तरह काम करना सबके बूते का न था, न कोई ऐसा करना पसंद करता। यह उन्हें बेइज्जती लगता था। ऐसा क्या करता था नितेश? अपराध स्थल की जानकारी … Continued

खेल खल्लास: अजीज बाबा रेड्डी : रक्त पीने वाला हत्यारा

posted in: News & Investigations | 0

राजन गिरोह का सुपारी हत्यारा… 20 से अधिक हत्याएं कर चुका हत्यारा… रक्त पीने व कच्चा मांस खाने वाला हत्यारा… अजीज रेड्डी इंसानी जिस्म में छुपा ‘ड्रैकुला’ था, जो रक्त पीता और कच्चा मांस खाता था। अब तक जितने क्रूरकर्मियों … Continued

खेल खल्लास: येड़ा गोपाल : काली दुनिया का पागल

posted in: News & Investigations | 0

खतरनाक पागलों सी हरकतों करने वाले गिरोहबाज येड़ा गोपाल से सभी खौफ खाते थे। वह अचानक रोने, अचानक हंसने लगता। एक बार झपट पड़े तो शिकार का बचना नामुमकिन था।   उसके पागलपन के दर्जनों किस्से खूंरेजी के बाजार में … Continued

खेल खल्लास: आरिफ कालिया: ‘काउंटर स्पेशलिस्ट’ के लिए खौफ

posted in: News & Investigations | 0

कुख्यात, सनकी, दीदावर, खतरनाक गुंडे आरिफ कालिया से पुलिस अधिकारी भी डरते थे। दो मुठभेड़ विशेषज्ञ अधिकारियों को आरिफ के डर से ही सुरक्षा में रहना पड़ा, जो आमतौर पर इंस्पेक्टरों को नहीं मिलती है। अंडरवर्ल्ड के कुख्यात गुंडे आरिफ … Continued

खेल खल्लास: कालिया एंथोनी : वरदा का माल लूटने वाला दुस्साहसी

posted in: News & Investigations | 0

एंथोनी कालिया न ये देखता था कि कौन कितना बड़ा गिरोहबाज है, कौन कितना बड़ा उद्योगपति या नेता है। एंथोनी कालिया तो बस कालिया था, जो किसी से भी उलझने की ताकत रखता था। जिस दिन फिल्म कालिया आई और … Continued

खेल खल्लास: अनवर बादशाह : झोपड़पट्टी दादा से गिरोहबाज तक

posted in: News & Investigations | 0

मुंबईया झोपड़पट्टी दादा अमूमन गिरोहबाजों के संरक्षण में काम करते हैं। सरगनाओं को बदले में मोटा हफ्ता देते हैं। इसके बावजूद माफिया का काम करने से बचते हैं। अनवर बादशाह का मामला उलटा है। अनवर की जिंदगी के हर उतार-चढ़ाव … Continued