सट्टे का ऑनलाईन कुचक्र

posted in: News & Investigations | 0
  • ऑनलाईन सट्टे का जोर, पुलिस बैठी है शांत
  • डॉलर और रुपए में भी लग रहा है सट्टा
  • सैंकड़ों वेबसाईट और एप खिला रहे हैं सट्टा

विवेक अग्रवाल

मुंबई, 03 मई 2018

जब IPL Satta Online 2018 खोजा गुगल पर तो महज 0.32 सेंक़ड में ही कुल मिला कर लगभग 12,90,000 परिणाम सामने आ गए। यही नहीं, इनमें ऐसी सैंकड़ों वेबसाईट्स और एप्स की लिंक भी मिलीं हैं, जहां सीधे आईपीएल पर सट्टेजाबाजी की जा सकती है। इन सबमें चौंकाने वाली बात यह भी है कि हर पोर्टल या एप दावा करता है कि उनके जरिए क्रिकेट पर भारत से ही सट्टा खेला जा सकता है।

ऑनलाईन सट्टा खिलाने वाली एक वेबसाईट स्पोर्ट्सबेटिंग.नेट.इन है। इस पर न केवल सट्टे के भाव दिए हैं, विदेशी सट्टा वेबसाईटों के सीधे लिंक भी दिए हैं। यही नहीं, उसमें यह दावा भी किया है कि रकम भारतीय करंसी में भी जमा की जा सकती है और जीतने पर रुपए में ही यह रकम वापस निकाली भी जा सकती है।

इसके ठीक उलट सत्यता यह है कि भारत सरकार ने ऑनलाईन बेटिंग पर पूरी तरह प्रतिबंध लगा रखा है। कोई भी व्यक्ति न तो किसी बैंक से ऑनलाईन इन बेटिंग वेबसाईट्स पर सट्टा खेल सकता है, ना ही किसी भी भारतीय क्रेडिंट कार्ड या डेबिट कार्ड के जरिए भी सट्टा खेला जा सकता है। यह जुआ विरोधी कानूनों का ही उल्लंघन नहीं है बल्कि विदेशी मुद्रा अधिनियम के प्रावधानों का भी खुला उल्लंघन है। इस वेबसाईट पर पंटरों को खुलेआम उकसाया जा रहा है कि वने खुल कर सट्टेबाजी करें क्योंकि भारत में कोई भी आज तक अवैध जुआखोरी में गिरफ्तार नहीं हुआ है। यहां तक कि यह भी सिखाया जा रहा है कि क्रिकेट पर सट्टाबाजी करने के दौरान किस तरह कानूनी शिकंजे से बचा जाए।

कुछ और ऑनलाईन सट्टा वेबसाईटों के बारे में भी जान लें। ऑनलाईनक्रिकेटबेटिंग.नेट नाम की एक और वेबसीट पर आपको भारत से सट्टा खेलने की जानकारी मिलेगी। एक ब्लाग है आईपीएलआनलाईनसट्टा2018, जिस पर आपीएल सट्टे से संबंधित तमाम जानकारियां हैं। 24सेवनबेट.कॉम वेबसाईट पर भी भारत से सट्टा खिलवाने संबंधी जानकारियां दी हैं। इसका तो दावा है कि भारत में ऑनलाईन बेटिंग न केवल कानूनी तौर पर मान्य है बल्कि यह वेबसाईट इसके लिए कानूनी तौर पर सही भी है।

बाबाटिप.कॉम पर तो एक फोन नंबर 9109712373 भी दिया है, जिस पर फोन करके या वॉट्सएप पर सट्टा लगाने के लिए संपर्क किया जा सकता है। खुद की खाल बचाने के लिए सबसे अंत में एक डिस्क्लैमर भी डाल दिया है, जिसमें यह कहा है कि भारत में ऑनलाईन सट्टा कानूनी नहीं है। यह वेबसाईट भारतीयों के लिए नहीं है। तो सवाल यह है कि भारतीय सेलफोन नंबर इस पर क्यों डाला है।

ऑनलाईनगैंबलिंग.को.इन वेबसाईट के डोमिन नेम से ही साफ है कि यह तो भारतीय वेबसाईट है। इस पर बेटवे और रायलपांडा पर सट्टा खेलने की सुविधा दी जा रही है। यही नहीं नेटेलर, स्क्रिल, एंट्रोपे और क्रेडिंट कार्डों के जरिए रकम जमा करने की सुविधा भी उपलब्ध है। बेटवे के बारे में तो यहां तक दावा किया है कि यह भारतीय  करंसी में भी रकम लेती है।

बेटमोकर्स.कॉम  भी क्रिकेट सट्टेबाजी की एक वेबसाईट है, जिस पर न केवल सटोरियों को खास सुविधाएं मिल रही हैं, बल्कि इसमें मुफ्त रजिस्ट्रेशन करने के बाद ही जुआ खेलने की छूट है। दोस्तों को रेफरल के जरिए इस वेबसाईट पर लाने के एवज में 15 हजार रुपए के आभासी भारतीय रुपए भी वालेट में देने का दावा यह वेबसाईट कर रही है।

ऐसे ही भारतीय नाम वाली एक वेबसाईट है, लगाईखाई.कॉम। इस पर भी सट्टे को लेकर तमाम जानकारियां और सट्टा लगाने के लिए तमाम सुविधाएं दी जा रही हैं।

Leave a Reply