Satta On IPL 2018: Bookmakers cheating Punters in the name of online betting

posted in: News & Investigations | 0

क्रिकेट का सट्टा अब पूरी तरह से ऑनलाईन हो गया है।

इतना ही नहीं, सटोरिए अब पंटरों को इन सट्टा एप के जरिए ठगने में लग गए हैं।

एप में पेमेंट भरने के लिए वे डॉलर का रेट लगाने की बात करते हैं ताकी यह स्थापित किया जा सके कि एप विदेशी है। रुपए में रकम लेकर वे 3 से 5 फीसदी प्रीमियम काटते हैं जो कि मुद्रा के परिवर्तन के नाम पर वसूला जाता है।

यदि कोई पंटर एक हजार रुपए देता है तो उसे एप में 995 रुपए का ही बैलेंस मिलता है।

यदि कोई पंटर एक लाख रुपए जीत जाए तो उसे रुपए में रकम चुकाने के लिए ये सटोरिए फिर डॉलर से रुपए का प्रीमियम काटते हैं। इसका मतलब यह है कि एक लाख रुपए के बदले पंटर के 500 रुपए काट लेते हैं।

इस तरह से सटोरिए अपने ही पंटरों के साथ बड़े पैमाने पर ठगी करने लगे हैं।

पुलिस अधिकारियों को सब पता है कि कौन सा सटोरिया किस स्तर पर एप के जरिए सट्टेबाजी करवा रहा है लेकिन उन्हें बड़ी रकम बतौर रिश्वत मिलने के कारण आंख मूंदे हैं।

 

Leave a Reply