‘मुं’भाई’ किताब को महाराष्ट्र राज्य हिन्दी साहित्य अकादमी का ‘बाबूराव विष्णु पराड़कर’ पुरस्कार

posted in: News & Investigations | 0
  • विवेक अग्रवाल को पत्रकारिता श्रेणी में मिला पहला पुरस्कार
  • महाराष्ट्र राज्य हिन्दी साहित्य अकादमी का वर्ष 2016-17 का पुरस्कार मिला
  • देश के वरिष्ठ व मशहूर खोजी पत्रकार हैं विवेक अग्रवाल
  • अंडरवर्ल्ड पर लिखित खोजी किताब मुंभाई को मिला पुरस्कार
  • बांद्रा स्थित रंगभवन सभागृह में आयोजन में पुरस्कार मिला

मुंबई, 17 जनवरी 2018

महाराष्ट्र राज्य हिन्दी साहित्य अकादमी द्वारा वर्ष 2016-17 के पुरस्कारों के तहत देश के वरिष्ठ व मशहूर खोजी पत्रकार विवेक अग्रवाल को पत्रकारिता हेतु महाराष्ट्र राज्य हिन्दी साहित्य अकादमी का ‘बाबूराव विष्णु पराड़कर’ पुरस्कार मिला। मुंबई अंडरवर्ल्ड पर लिखित विवेक अग्रवाल की खोजी किताब ‘मुं’भाई’ पर यह पुरस्कार मिला है। मुंबई के उपनगर बांद्रा स्थित रंगभवन सभागृह में एक शानदार आयोजन में पुरस्कार विवेक अग्रवाल को महाराष्ट्र के लब्धप्रतिष्ठित व्यक्तियों ने प्रदान किया।

Maharashtra Sahitya Academy Awards Vivek Agrawal 2017_001

उल्लेखनीय है कि प्रदेश में हिन्दी के प्रचार-प्रसार एवं विकास हेतु प्रयासरत हिन्दी साहित्य अकादमी हर साल हिन्दी सेवियों को अकादमी पुरस्कृत करती है। अकादमी के ये पुरस्कार अखिल भारतीय, राज्य स्तरीय तथा विधागत हैं। सभी पुरस्कृत साहित्यकारों को अकादमी द्वारा आयोजित सम्मान समारोह में नगद पुरस्कार, स्मृति चिह्न तथा प्रशस्ति पत्र दिए जाते हैं।

 

महाराष्ट्र राज्य हिन्दी साहित्य अकादमी के समन्वयक डॉ. शीतला प्रसाद दुबे के मुताबिक इस साल अखिल भारतीय सम्मान जीवन गौरव पुरस्कारों में ‘महाराष्ट्र भारती अखिल भारतीय हिंदी सेवा पुरस्कार’ के लिए श्री शशि भूषण वाजपेयी तथा ‘डॉ. राम मनोहर त्रिपाठी अखिल भारतीय हिंदी सेवा पुरस्कार’ के लिए श्री सूर्यप्रसाद दीक्षित को सम्मानित किया।

 

राज्य स्तरीय सम्मान जीवन गौरव पुरस्कार के अंतर्गत ‘छत्रपति शिवाजी राष्ट्रीय एकता पुरस्कार’ डॉ. माधव सक्सेना (अरविंद) को, ‘साने गुरुजी राष्ट्रीय एकता पुरस्कार’ श्री हृदयेश मयंक को, ‘पद्मश्री अनंत गोपाल शेवडे हिंदी सेवा पुरस्कार’ पं. शंकरप्रसाद अग्निहोत्री को, ‘डॉ. उषा मेहता हिंदी सेवा पुरस्कार’ श्री अश्विनीकुमार मिश्र को, ‘गजानन माधव मुक्तिबोध मराठी भाषी हिंदी लेखक पुरस्कार’ डॉ. अशोक कामत को, ‘कांतिलाल जोशी इतर हिंदी भाषी हिंदी लेखक पुरस्कार’ श्री गंगाधर ढोबळे को ‘व्ही. शांताराम ललित कला हिंदी विशिष्ट सेवा पुरस्कार’ श्री राम गोविन्द को तथा ‘सुब्रम्हण्य भारती हिंदी सेतु विशिष्ट सेवा पुरस्कार’ डॉ. इंद्रबहादुर सिंह को पुरस्कार मिले।

 

विधा पुरस्कारों में काव्य हेतु ‘संत नामदेव पुरस्कार’ डॉ.भगवान गव्हाडे, श्रीमती नेहा विलास भांडारकर और श्रीमती माधवी दीपक चौरसिया (कमलेश चौरसिया) को, नाटक हेतु ‘विष्णुदास भावे पुरस्कार’ स्वामी बुद्धदेव भारती (बलवंत खोरगडे),  डॉ.बालकृष्ण रामभाऊ महाजन तथा श्री दिनेशचंद्र मिश्र को, उपन्यास विधा में ‘जैनेन्द्र कुमार पुरस्कार’ श्रीमती रश्मि वर्मा, श्रीमती रेखा शिवकुमार बैजल तथा श्री पवन चिंतामणी तिवारी को, कहानी का ‘मुंशी प्रेमचन्द’ पुरस्कार श्रीमती भारती गोरे, श्री अरविन्द श्रीधर झाडे तथा डॉ. दीप्ती गुप्ता को, व्यंग एवं ललित निबंध का ‘आचार्य रामचन्द्र शुक्ल पुरस्कार’ श्री संतोष रामनारायण पांडेय (संतोष बादल), श्री महेश दुबे तथा श्री. राजेश कुमार रा. मिश्र (राजेश विक्रांत) को, जीवनी एवं आत्मकथा का ‘काका कालेलकर पुरस्कार’ डॉ.राजेंद्र पटोरिया, लोकसाहित्य का ‘फणीश्वरनाथ रेणु’ पुरस्कार श्री रमेश यादव एवं डॉ. विनायक सांबा तुमराम को बालसाहित्य हेतु ‘सोहनलाल द्विवेदी पुरस्कार’ डॉ प्रमिला शर्मा, शंकर विठोबाजी विटणकर एवं श्री विवेक मूंदडा (आनंद) को, समीक्षा के लिए ‘आचार्य नंददुलारे वाजपेयी पुरस्कार’ डॉ. सतीश पांडेय, डॉ. दयानन्द रामचन्द्र तिवारी एवं प्रा. डॉ. रणजीत रामराव जाधव को दिया।

 

अनुवाद का ‘मामा वरेरकर पुरस्कार’ श्रीमती सुनन्दा श्रीराम देवस्थळी, श्री अशोककुमार जौहरीलाल बिंदल एवं डॉ.चंद्रशेखर शर्मा को तथा वैज्ञानिक तकनीक हेतु ‘होमी जहांगीर भाभा पुरस्कार’ डॉ कृष्ण कुमार मिश्र को मिला।

 

पत्रकारिता-सिने-पत्रकारिता हेतु ‘बाबूराव विष्णु पराड़कर’ पुरस्कार श्री विवेक अग्रवाल को प्रदान करते हुए अकादमी के सभी अधिकारियों एवं विशिष्ट अतिथियों ने खुशी जताई।

 

Leave a Reply